ग्रेजुएशन के बाद एलएलबी कर सवारें भविष्य

LLB का फुल फॉर्म Bachelor of Laws होता है। अगर कोई व्यक्ति कानून की पढ़ाई करने में इच्छुक है तो उन्हें LLB करना चाहिए। इसके अंदर आपको कानून की असली परिभाषा बताई जाती है जिसे पढ़ने के बाद आप वकील जैसे प्रोफेशन में जा सकते है। एलएलबी करने के बाद आप सरकारी वकील बन सकते हो और सेंट्रल, स्टेट या लोकल अथॉरिटीज के लिए काम कर सकते है। आप लोगो को उनकी कानूनी समस्या का समाधान बता सकते हो जिन्हें कानून की जानकारी नहीं होती।

जब आप इसकी पढ़ाई पूरी कर लेते है तब आप एक फ्रेशेर होते हो आपके पास अनुभव की कमी होती है इसलिए शुरुवात में आपको किसी लीगल फार्म या एडवोकेट के अंदर काम करना पड़ता है और चीजो को समझना होता है। भारत जैसे अत्यधिक आबादी वाले देश में वकील की काफी डिमांड है लेकिन अफ़सोस की बात है बहुत ही कम वकील ऐसे होते है जिन्हें इस प्रोफेशन की समझ होती है।

CHECK LLB COURSE FEE HERE

CHECK BA LLB COURSE FEE HERE

एलएलबी तीन साल का एक बैचलर डिग्री कोर्स है, जो कि ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद किया जाता है। भारत के कई प्रसिद्ध लॉ कॉलेजों में एलएलबी कोर्स की पेशकश बार कौंसिल ऑफ़ इंडिया (BCI) द्वारा अनिवार्य दिशा निर्देशों के अनुसार की जाती है। बीसीआई भारत में कानूनी शिक्षा और कानूनी पेशे को नियंत्रित करता है। इसी के चलते हर साल कई सारे छात्र लॉ की पढ़ाई शुरू करते है और बहुत से छात्र अपनी मेहनत और सही मार्गदर्शन के कारण एक अच्छा वकील बन पाते है।

आप भी एलएलबी के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते है। बस आपको सही मार्गदर्शन और मेहनत करने की जरुरत है। अगर आप समाज की सेवा करना चाहते है तो यह कोर्स आपके लिए एक अच्छा विकल्प है। वकील बनने पर हमें सम्मान भी मिलता है और हम किसी निर्दोष के पक्ष में लड़कर उसे भी बचा सकते है।

एलएलबी का कोर्स 3 सालों का होता है और इस लॉ प्रोग्राम को इस प्रकार बनाया गया है कि इसमें पूरे कोर्स को 6 सेमेस्टर में बांट दिया गया है। किसी भी उम्मीदवार को एलएलबी की डिग्री तभी दी जाती है जब वह 6 सेमेस्टर यानी कि 3 सालों के कोर्स को सफलता के साथ पूरा कर लेता है।

जब कोई उम्मीदवार एलएलबी का कोर्स करता है चाहे वह किसी भी कॉलेज से करें उसे अपना थ्योरी क्लास , मूट कोर्ट्स, इंटर्नशिप और ट्यूटोरियल वर्क, प्रैक्टिकल ट्रेनिंग प्रोग्राम में हिस्सा लेना जरूरी होता है।

    एलएलबी कोर्स के फायदे :

  1. एलएलबी का कोर्स करने के बाद आप एक कानून अच्छे जानकार हो जाते हैं, और उस क्षेत्र में एक्सपर्ट बन जाते हैं।
  2. बैचलर ऑफ लॉ का कोर्स करने के बाद आप ग्रेजुएट इस कहलाते हैं।
  3. यह एक प्रकार की वकालत गुरुचरण डिग्री है, और इस डिग्री को करने के बाद आप वकील बन सकते हैं।
  4. एलएलबी का कोर्स करने के बाद आप किसी भी प्रकार का केस लड़ सकते हैं।
    कैरियर ऑप्शन :
    एल.एल.बी के अध्ययन के बाद आप इन कैरियर ऑप्शन का का चयन कर सकते हैं :

  • कनिष्ठ न्यायिक सहायक
  • सहायक न्यायालय सचिव
  • सहायक अभियोजन
  • क्लर्क
  • अन्य लॉ संबंधित पद
  • उप विधिक प्रबंधक
  • कानूनी सलाहकार
  • बोर्ड में विधिक अधिकारी
  • वरिष्ठ विधि अधिकारी
  • लीगल जनरल मैनेजर
  • लीगल एडवाइजर
  • लीगल चीफ जनरल मैनेजर
  • वरिष्ठ कानूनी अधिकारी
  • लीगल अफसर
  • सपथ आयुक्त
  • फौजदारी अधिवक्ता
  • सिविल अधिवक्ता
  • पारिवारिक अधिवक्ता
  • बीमा अधिवक्ता
  • बैंक अधिवक्ता
  • लॉ डिपार्टमेंट
  • ऑफिस क्लर्क
  • लेक्चरर
  • क्लेम मैनेजर